कंगना के मुंबई पहुंचने से पहले बीएमसी ने क्रेन हथोड़ा से कंगना का ऑफिस तोड़ा

Entertainment National

कंगना राणावत के मुंबई पहुंचने से पहले ही बवाल शुरू हो गया। कंगना के दोपहर तक मुंबई पहुंचने की उम्मीद है। इसके पहले ही बृहनमुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) ने उनके मुंबई स्थित ऑफिस में अवैध निर्माण से संबंधित दूसरा नोटिस भेजा, जिसके कुछ देर बाद ही बीएमसी की एक टीम बुलडोजर, क्रेन और हथौड़ी लेकर पहुंच गई और कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ की।
कंगना की ओर से इस कार्रवाई पर 4 ट्वीट किए गए। उन्होंने कहा या हमारा ऑफिस नहीं राम मंदिर है जहां आज बाबर आया हुआ है। दूसरी तरफ बीएमसी की कार्रवाई के खिलाफ कंगना के वकील ने हाईकोर्ट में अर्जी लगाई है जिस पर 12:30 बजे सुनवाई होनी है। कंगना ने कहा है कि मेरे आने से पहले ही महाराज सरकार और बीएमसी के गुंडे मेरे ऑफिस के बाहर पहुंच कर उसे गिरा रहे हैं। यह कार्रवाई डेट ऑफ डेमोक्रेसी है। कंगना ने कहा है “मैं कभी गलत नहीं थी मेरे दुश्मनों ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि क्यों मुंबई पाक के कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) है”।

बीएमसी की कार्रवाई पर अधिकारी ने कहा कि “नोटिस मिलने के बाद भी आपने काम जारी रखा इसलिए नोटिस के मुताबिक फौरन तोड़फोड़ कर रहे हैं ।इसके लिए आपको जिम्मेदार हैं यह काम आपके ही खर्चे पर किया जा रहा है”। कंगना ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की थी जिसके चलते विवाद हो गया। केंद्र द्वारा उन्हें “वाई” कैटेगरी की सुरक्षा दी गई है जिसके अंतर्गत 11 सुरक्षाकर्मी हमेशा उनके साथ रहेंगे । इधर मुंबई करणी सेना और रामदास अठावले की पार्टी आर पी आइ उन्हें सुरक्षा देने का ऐलान किया है । कंगना के मुंबई पहुंचते ही शिवसेना एवं अन्य राजनीतिक दलों की ओर से विरोध निश्चित माना जा रहा है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि ‘राजनीतिक एजेंडों को सामने लाने के लिए देशद्रोही पत्रकार और सुपारी बाज कलाकारों के राजद्रोह का समर्थन करना भी “हरामखोरी” ही है”।

Leave a Reply