Breaking News

झारखंड के देवघर स्थित एम्स की ओपीडी के उद्घाटन में बोले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया, मिलेगा बेहतर इलाज

0 0

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने नई दिल्ली से आज मंगलवार को झारखंड के देवघर स्थित एम्स की ओपीडी सेवा का ऑनलाइन उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि भगवान बिरसा की धरती पर झारखंड के लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा एम्स में मिलेगी. इलाज के लिए उन्हें बाहर नहीं जाना पड़ेगा. एम्स की टीम से उन्होंने कहा कि वे सेवाभाव से काम कर जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरें.

एम्स में डॉक्टरों का ड्यूटी रोस्टर तैयार कर लिया गया है. डॉक्टरों का नाम व विभाग देवघर एम्स के वेबसाइट www.aiimsdeoghar.edu.in में भी है. ओपीडी में जांच, चिकित्सीय परामर्श व दवाइयां मरीजों को दी जायेगी. हर तरह की बीमारी से संबंधित मरीजों को पूरी सलाह दी जायेगी. रोगियों को देश के अन्य एम्स समेत केंद्र सरकार के सरकारी संस्थान में रेफर भी किया जायेगा. डॉक्टरों को अगर लगेगा मरीज दवा से ठीक हो सकते हैं तो उन्हें रियायत दरों पर रैन बसेरा बिल्डिंग में अमृत फॉर्मेसी से दवाइयां दी जायेगी. अलग-अलग दवाइयों में 60 फीसदी तक छूट है.

केवल मरीजों की भर्ती, ऑपरेशन, दुर्घटना केस व इजरजेंसी सेवा अभी चालू नहीं रहेगी. ओपीडी में 15 बेड का डे केयर मरीज की सुविधा होगी. अगर किसी मरीज को अचानक डिहाइड्रेशन जैसी शिकायत हो गयी तो उनका चार-पांच तक बेड में इलाज कर सकते हैं. कोई इंजेक्शन लेने के बाद उन्हें दो-तीन घंटे तक रखा जा सकता है, लेकिन रात की सुविधा इसमें नहीं होगी. कोविड को ध्यान में रखते हुए प्रतिदिन 200 मरीजों को चिकित्सीय परामर्श दी जायेगी. सुबह 8:30 से 10:30 बजे तक रजिस्ट्रेशन होगा. रजिस्ट्रेशन शुल्क 30 रुपया होगा. रजिस्ट्रेशन में एक बुक मिलेगा व जिसमें मरीज के मेडिकल का सारा ब्योरा रहेगा. एक रजिस्ट्रेशन की वैद्यता एक वर्ष तक रहेगी. एक माह के अंदर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी शुरू होगी. एक रजिस्ट्रेशन में एक व्यक्ति अधिक से अधिक रोगों का परामर्श ले सकते हैं. जिन 200 मरीजों को रजिस्ट्रेशन होगा, उन सभी को डॉक्टर शाम पांच बजे तक देखेंगे.

ओपीडी में प्रवेश करने से पहले मरीज की स्क्रीनिंग होगी व वैक्सीन का स्टेटस देखा जायेगा. ओपीडी में परामर्श के बाद मरीजों की आवश्यकतानुसार जांच की सुविधा है. अभी बेसिक जांच की सुविधा दी जा रही है. खून, यूरिनल व अन्य बेसिक जांच की सुविधा रहेगी. मरीजों को केंद्र सरकार से निर्धारित बहुत ही रियायत दर पर जांच की सुविधा मिलेगी. तीन-चार माह में एक्सरे व अल्ट्रासाउंड की सुविधा शुरू होगी.

पूर्वी भारत में देवघर एम्स में पहला रैन बसेरा बना है. इस रैन बसेरा में मरीज के साथ आने वाले परिजन रात में रुक पायेंगे, उन्हें भटकना नहीं पड़ेगा. फिलहाल रैन बसेरा में एम्स के छात्रों की लैब की पढ़ाई होगी. छह माह बाद एम्स का अन्य बिल्डिंग हेंडओवर होने के बाद रैन बसेरा से छात्रों का लैब दूसरे भवन में शिफ्ट कर दिया जायेगा.

Source : Prabhat Khabar

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

%d bloggers like this: